विभागीय संरचना

विभागाध्यक्ष के रूप में आयुक्त सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थायें कार्यरत है| जिनका मुख्यालय भोपाल में स्थित है। विभागाध्यक्ष कार्यालय एवम् उनके अधिनस्थ कार्यालयों का विवरण निम्नानुसार हैः-

अध्यक्ष म.प्र. राज्य सहकारी अधिकरण, भोपाल।

आयुक्त सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाऐ, म.प्र.।

मध्यप्रदेश राज्य सहकारी निर्वाचन प्रधिकारी भोपाल।

  1. म.प्र. राज्य सहकारी अधिकरण, सहकारी न्यायालयों द्वारा दिये गये निर्णयों पर की गई अपील रिवीजन आदि का निराकरण करता है। अधिकरण में अध्यक्ष के अलावा एक शासकीय एवं एक अशासकीय सदस्य है।
  2. आयुक्त सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाऐं के अधीन विभिन्न अधिकारी संभाग/जिलों में कार्यरत है। विभाग का नेटवर्क जिला स्तर तक फैला है। विभाग में अंकेक्षण बोर्ड कार्यरत है। जिसमें जिला स्तर पर सहायक आयुक्त सहकारिता एवं सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाऐं (अंकेक्षण) जिला अधिकारी के रुप में पदस्थ है।

    (a) संभागों के नाम जहां संयुक्त आयुक्त सहकारिता एवं संयुक्त पंजीयक सहकारी संस्थाऐं संभाग प्रमुख है।

    • भोपाल, इन्दौर, ग्वालियर, उज्जैन, सागर, जबलपुर, रीवा, नर्मदापुरम, शहडोल एवं चंबल संभाग ( 10 संभाग )

    (b) जिलों के नाम जहां उप आयुक्त सहकारिता एवं उप पंजीयक सहकारी संस्थाऐं जिला प्रमुख है।

    • भोपाल, इन्दौर, ग्वालियर, उज्जैन, सागर, जबलपुर, रीवा, होशंगाबाद, शहडोल, सीहोर, राजगढ, विदिशा, रायसेन, बैतूल, खरगौन, धार, खण्डवा, झाबुआ, देवास, रतलाम, शाजापुर, मंदसौर, मुरैना, भिण्ड, शिवपुरी, गुना, सिवनी, नरसिंहपुर, छिन्दवाडा, बालाघट, टीकमगढ, छतरपुर, सीधी, सतना, अलीराजपुर सिंगरोली, बुरहानपुर, अशोकनगर, अनूपपुर, ( कुल 39 जिले )

    (c) जिलों के नाम जहां सहायक आयुक्त सहकारिता एवं सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाऐं जिला प्रमुख है।

    • हरदा, बडवानी, नीमच, दतिया, श्योपुर, कटनी, डिण्डोरी, दमोह, पन्ना, उमरिया, मण्डला (कुल 11 जिले )

    (d) प्रदेश में सभी 50 जिलों में सहायक आयुक्त सहकारिता एवं सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाऐं (अंकेक्षण) पदस्थ है।

    (e) न्यायिक मामलो के त्वरित एवं प्रभावी निराकरण हेतु विभागीय मुख्यालय स्तर पर 01 पद अपर पंजीयक, 02 पद संयुक्त पंजीयक, 03 पद उप पंजीयक एवं 04 पद संयुक्त पंजीयक, संभागीय मुख्यालय, भोपाल, इन्दौर, ग्वालियर, जबलपुर तथा 04 पद उप पंजीयक जिला कार्यालय, भोपाल, इन्दौर, ग्वालियर, जबलपुर के लिये स्वीकृत है तथा उक्त न्यायालयों हेतु निम्नानुसार 14 पद शीघ्रलेखक, 28 पद न्यायालयिन लिपिक 14 पद भृत्य के (कलेक्टर दर से) स्वीकृत है।

  3. मध्यप्रदेश राज्य सहकारी निर्वाचन प्रधिकारी, सहकारी संस्थाओं के निष्पक्ष एवं सुचारू रूप से निर्वाचन का कार्य संचालन हेतु निर्वाचन प्राधिकारी के अलावा सचिव, उप सचिव, अवर सचिव, पदस्थ है।